Home Politics पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बड़ा बयान,टीचर्स...

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बड़ा बयान,टीचर्स के ट्रांसफर भी बोले सीएम

83
0
अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

जयपुर के बिड़ला सभागार में शिक्षक दिवस पर राज्य स्तरीय समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश के सभी 50 जिलों के 149 शिक्षकों को नकद राशि, प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री गहलोत ने विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में राष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने वाले प्रदेश के खिलाड़ियों को भी सम्मानित किया। इस दौरान शिक्षा विभाग की कई योजनाओं की भी शुरुआत की गई। इस दौरान मुख्यमंत्री गहलोत ने राज्य सरकार की शिक्षा विभाग में चलाई जा रही योजनाओं और उपलब्धियों का जिक्र किया। साथ ही व्यक्ति के व्यक्तित्व निर्माण में शिक्षकों की भूमिका की भी सराहना की।

गहलोत ने ट्रांसफर के कयासों पर लगाया विराम

सीएम ने आज बिड़ला सभागार में बड़ा बयान दिया था.जिसके बाद अबराजस्थान में ट्रांसफर का इंतजार कर रहे ग्रेड थर्ड के टीचर्स को थोड़ा और इंतजार करना पड़ेगा.सीएम ने यहा कहा कि शिक्षा विभाग में लगभग ढाई लाख तो सिर्फ थर्ड ग्रेड टीचर है .और उनकी भी अलग तरह की समस्याएं है . । मान लीजिए अगर सरकार चुनाव से पहले 20 या 30 हजार के ट्रांसफर भी कर देती है। उससे आप लोग खुश हो जाएंगे तो वह गलत बात है। क्योंकि बिना पॉलिसी ट्रांसफर नहीं होने चाहिए। हर टीचर को यह पता होना चाहिए। उसका ट्रांसफर इस पॉलिसी के तहत इतने वक्त में हो सकेगा।

गहलोत का वसुंधरा पर तंज

सीएम ने अपने संबोधन में आज पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर तंज कसा.सीएम ने यहां कहा कि मैंने कई यूनिवर्सिटी का निर्माण किया था.लेकिन वसुंधरा राजे की सरकार ने उन्हे बंद कर दिया लेकिन फिर लोग कहते है कि मैं और वसुंधरा जी मिले हुए है .लेकिन मैं ये कहना चाहता हूं वो तो मेरे कामों को बंद कर देती है तो उनसे मिले होने का तो सवाल ही नहीं उठता.उन्होंने रिफाइनरी बंद कर दी थी.इसकी वजह से अब उसकी लागत भी ज्यादा हो गई। इसमें मोदी जी की सरकार ने भी उनके साथ दिया।

विपक्ष की सोच हो गई नेगेटिव-सीएम

सीएम ने कहा कि हमारी सरकार की सोच सकारात्मक है .जबकि पिछली सरकार को सोच नकारात्मक थी.नेगेटिव सोचना ही उनकी फितरत में था .वो लोग दुश्मनी निकालते थे.और तनाव पैदा करना चाहते है.उन लोगो में सहन शक्ति नहीं है .आलोचना करते ही आपको देशद्रोही की श्रेणी में खड़ा कर दिया जाता है। मैं आलोचना का स्वागत करता हूं। अगर वह तथ्य के आधार पर हो। विपक्ष का काम भी आलोचना करना है। राजस्थान में तो सिर्फ हवा में आलोचना की जाती है। जो हवा में ही उड़ जाती है। वह नीचे नहीं उतर पाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here